Radhe Forms

बिहार बाढ़ फसल छती अनुदान ऑनलाइन 23/12/2020 तक किय गया है शाम 6 : तक किया जायेगा !

बिहार बाढ़ फसल छती अनुदान ऑनलाइन आवेदन शुरू 2020-21

Description : बिहार बाढ़ फसल छति अनुदान बिहार सरकार द्वारा बिहार के किसानो के लिए कृषि इनपुट अनुदान के आवेदन के लिए तिथि निकाल दी है |ऐसे किसान बाढ़ के कारण जिनके फसल का बहुत नुकसान हुआ है वो लोग इस बाढ़ फसल छति अनुदान के लिए आवेदन कर सकते है !

बिहार बाढ़ फसल छती अनुदान 17 जिलो के प्रतिवेदित 206 प्रभाबित प्रखंडो के 3251 किसान ही इस योजना का लाभ ले सकते है|प्रभाबित जिलो के नाम आपको निचे मिल जाएगा |जिन -जिन पंचायतो के नाम बिहार बाढ़ फसल छति अनुदान के लिए चुने गए है उनके नाम आप निचे सूची में देखे सकते है |इस से जूरी सारी जानकारी निचे दी गयी |बिहार बाढ़ फसल छति अनुदान के बारे में और अधिक जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक को देखे

महत्वपूर्ण तिथि
  • ऑनलाइन आवेदन शुरू होने की तिथि :-2 दिसम्बर
  • ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि : 23-12-2020 9:00  बजे से शाम 6:00 बजे तक किया किएजा !
महत्वपूर्ण कागजात
  • रैयत कृषक 
  • गैर-रैयत कृषक 
  • किसान registration नंबर
  •  Register मोबाइल नंबर
  • अगल -बगल के दो किसानो के नाम
  • खाता नंबर ,खेसरा नंबर ,थाना नंबर
  • LPC ,जमाबंदी ,हाल रसीद
  • किसान registration नंबर
  • Register मोबाइल नंबर
  • स्व -घोषणा पत्र (बार्ड सदस्य या किसान सलाहकार से हस्ताक्षर)
  • अगल -बगल के दो किसानो के नाम
  • खाता नंबर ,खेसरा नंबर ,थाना नंबर

कितना नुकसान में कितना मिलेगा फसल छति अनुदान


असिंचित फसल क्षेत्र के लिए 6,800 रुपये प्रति हेक्टेयर |
संचित क्षेत्र के लिए 13,500 रूपये प्रति हेक्टेयर |
शाशवत फसल के लिए 18,000 प्रति हेक्टेयर |
यह अनुदान प्रति किसान अधिकतम दो हेक्टेयर के लिए ही देय होगा |
किसान को इस योजना के अंतर्गत फसल क्षेत्र के लिए न्यूनतम 1,000 रुपये अनुदान देय होगा

अनुदान मिलने वाले जिलो की सूची

  • मधेपुरा
  • पु0 चम्पारण
  • भागलपुर
  • खगड़िया
  • मधुबनी
  • सहरसा
  • मुजफ्फरपुर
  • समस्तीपुर
  • बेगुसराय
  • शिवहर
  • प0 चम्पारण
  • सिवान
  • सारण
  • दरभंगा
  • वैशाली
  • सीतामढ़ी

महत्वपूर्ण लिंक

आवेदन करे  Link 1  Link 2 Link 3
वास्तविक खेतिहार स्व घोषणा डाउनलोड Click here
पंचायत सूची देखे Click here
ऑफिसियल वेबसाइट  Click here

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *